Latest News

गुरुवार, 6 जून 2019

पुलिस और अबकारी विभाग के रहमों करम पर चल रहा अवैध शराब का गोरख धंधा

विष्णु चंसौलिया।


विष्णु चंसौलिया।



  पुलिस  और अबकारी विभाग  के रहमों करमो पर चल रहा अवैध शराब का गोरख धंधा

कार्रवाई के नाम पर सिर्फ हो रही  लीपापोती।

कार्रवाई सिर्फ उनके खिलाफ जो नहीं कर पा रहे प्रशासन की  जेब गर्म।


उरई (जालौन) कदौरा क्षेत्र के डेरो पर बिक रही  अवैध और जहरीली शराब के लिए प्रशासन अभियान तो बहुत चला  रहा  पर अभियान के नाम पर सिर्फ लीपापोती और अपनी जेब गर्म हो रही है कार्रवाई उन्ही  के खिलाफ हो रही  जो प्रशासन की जेब करने में असमर्थ है आखिर प्रशासन लोगों की जान से खिलवाड़ क्यों कर रहा  अवैध और जहरीली शराब किसके कहने पर बिक रही कदौरा क्षेत्र  के बबीना में आपको अवैध सस्ती और जहरीली शराब आप की मांग पर जितनी चाहिए उतनी उपलब्ध कराने में  डेरे बारे सक्षम है  क्या इस बात की प्रशासन को खबर नहीं है या फिर प्रशासन की लीपापोती से इतना बड़ा कारोबार चल रहा  जब कोई बड़ा हादसा होता तो प्रशासन अपने हाथ पैर फुलाये फिरता  और जांच  तथा अभियान के नाम पर लीपापोती करता है।

 आपको बताते चलें कि जब पता लगा कि कदौरा क्षेत्र के बबीना में अवैध रूप से कबूतरे वाले पाऊज में  जहरीली शराब  बेच रहे तो मिडिया  कर्मी वहां पहुंचे और अपने कैमरों में बिक रही अवैध शराब के विक्रेता का वीडियो लिया जिसमें वह ₹20 में जहरीली शराब का पाउच दे रहा और उससे पूछा गया कि कितनी शराब दे सकते  तो उसका कहना रहा कि आपको जितनी चाहिए आखिर खुलेआम बिक रही  जहरीली शराब पर इसके बारे में प्रशासन  को क्यों नहीं कोई खबर  या फिर प्रशासन की मिलीभगत से चल रहा  अवैध शराब का कारोबार अगर समय पर प्रशासन नहीं जागा तो फिर हो सकती कोई बड़ी घटना जा सकती कई लोगों की और  जाने  जहरीली शराब से अभी उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में जा चुकी है कई जानें ।


आखिर कहां से आ रही जहरीली शराब*

 सवाल  यह रहता है कि आखिर कबूतरे बालों के पास इतनी भारी मात्रा में  शराब कहां से आ रही तो कबूतरे वाले खुद अपने डेरो पर अवैध और केमिकल से ज़हरीली शराब बनाते और पावजो में सस्ते दामों पर बेचते हैं बाजार में बिकने वाली शराब से इनके दाम बहुत ही कम होते जिससे लोग लालच में लेकर पीते  हैं लेकिन उन्हें नहीं पता होता है कि यह शराब उनके लिए आखिरी शराब भी हो सकती है उन्हें नहीं पता होता कि इसे पीने के बाद यह जहरीली शराब लोगों की जिंदगी छीन लेती अवैध शराब के गोरखधंधे के पीछे लापरवाही देखी जाए तो सबसे बड़ी प्रशासन की लापरवाही है


 आखिर कब से चल रहा अवैध शराब का गोरखधंधा


लोगों की जान लेने वाली जहरीली शराब का गोरखधंधा आज और कल से नहीं यह तो  सालों  से चल रहा जब कोई बड़ी घटना होती है तो प्रशासन कार्रवाई के नाम पर लीपापोती कर कर अपना पल्ला झाड़ लेता है और फिर कुछ दिनों बाद जहरीली शराब का धंधा फिर से रंगने लगता बबीना में बिक रही अवैध शराब बालों पर पहले भी कई बार कार्रवाई हुई लेकिन उन्होंने जहरीली शराब बेचना  बंद नहीं किया क्या प्रशासन ने कोई ऐसी कार्रवाई नहीं की जिससे बिक रही है अवैध शराब बंद हो सके सूत्रों की मानें तो कुछ दिनों पहले आबकारी विभाग और पुलिस की छापामारी हुई थी जिसमें प्रशासन ने लीपापोती कर अपनी जेब गर्म कर ली थी।                         .

कार्रवाई के नाम पर सिर्फ हो रही  लीपापोती।

कार्रवाई सिर्फ उनके खिलाफ जो नहीं कर पा रहे प्रशासन की  जेब गर्म।


उरई (जालौन) कदौरा क्षेत्र के डेरो पर बिक रही  अवैध और जहरीली शराब के लिए प्रशासन अभियान तो बहुत चला  रहा  पर अभियान के नाम पर सिर्फ लीपापोती और अपनी जेब गर्म हो रही है कार्रवाई उन्ही  के खिलाफ हो रही  जो प्रशासन की जेब करने में असमर्थ है आखिर प्रशासन लोगों की जान से खिलवाड़ क्यों कर रहा  अवैध और जहरीली शराब किसके कहने पर बिक रही कदौरा क्षेत्र  के बबीना में आपको अवैध सस्ती और जहरीली शराब आप की मांग पर जितनी चाहिए उतनी उपलब्ध कराने में  डेरे बारे सक्षम है  क्या इस बात की प्रशासन को खबर नहीं है या फिर प्रशासन की लीपापोती से इतना बड़ा कारोबार चल रहा  जब कोई बड़ा हादसा होता तो प्रशासन अपने हाथ पैर फुलाये फिरता  और जांच  तथा अभियान के नाम पर लीपापोती करता है।

 आपको बताते चलें कि जब पता लगा कि कदौरा क्षेत्र के बबीना में अवैध रूप से कबूतरे वाले पाऊज में  जहरीली शराब  बेच रहे तो मिडिया  कर्मी वहां पहुंचे और अपने कैमरों में बिक रही अवैध शराब के विक्रेता का वीडियो लिया जिसमें वह ₹20 में जहरीली शराब का पाउच दे रहा और उससे पूछा गया कि कितनी शराब दे सकते  तो उसका कहना रहा कि आपको जितनी चाहिए आखिर खुलेआम बिक रही  जहरीली शराब पर इसके बारे में प्रशासन  को क्यों नहीं कोई खबर  या फिर प्रशासन की मिलीभगत से चल रहा  अवैध शराब का कारोबार अगर समय पर प्रशासन नहीं जागा तो फिर हो सकती कोई बड़ी घटना जा सकती कई लोगों की और  जाने  जहरीली शराब से अभी उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में जा चुकी है कई जानें ।


आखिर कहां से आ रही जहरीली शराब*

 सवाल  यह रहता है कि आखिर कबूतरे बालों के पास इतनी भारी मात्रा में  शराब कहां से आ रही तो कबूतरे वाले खुद अपने डेरो पर अवैध और केमिकल से ज़हरीली शराब बनाते और पावजो में सस्ते दामों पर बेचते हैं बाजार में बिकने वाली शराब से इनके दाम बहुत ही कम होते जिससे लोग लालच में लेकर पीते  हैं लेकिन उन्हें नहीं पता होता है कि यह शराब उनके लिए आखिरी शराब भी हो सकती है उन्हें नहीं पता होता कि इसे पीने के बाद यह जहरीली शराब लोगों की जिंदगी छीन लेती अवैध शराब के गोरखधंधे के पीछे लापरवाही देखी जाए तो सबसे बड़ी प्रशासन की लापरवाही है


 आखिर कब से चल रहा अवैध शराब का गोरखधंधा


लोगों की जान लेने वाली जहरीली शराब का गोरखधंधा आज और कल से नहीं यह तो  सालों  से चल रहा जब कोई बड़ी घटना होती है तो प्रशासन कार्रवाई के नाम पर लीपापोती कर कर अपना पल्ला झाड़ लेता है और फिर कुछ दिनों बाद जहरीली शराब का धंधा फिर से रंगने लगता बबीना में बिक रही अवैध शराब बालों पर पहले भी कई बार कार्रवाई हुई लेकिन उन्होंने जहरीली शराब बेचना  बंद नहीं किया क्या प्रशासन ने कोई ऐसी कार्रवाई नहीं की जिससे बिक रही है अवैध शराब बंद हो सके सूत्रों की मानें तो कुछ दिनों पहले आबकारी विभाग और पुलिस की छापामारी हुई थी जिसमें प्रशासन ने लीपापोती कर अपनी जेब गर्म कर ली थी।                         .

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें


Created By :- KT Vision